तीन दिन पहले राईस मिल से जब्त किए गए धान के ट्रक ने विभागीय कार्यप्रणाली पर लगाए प्रश्नचिन्ह

0
820

रजनीश करकरा, रामपुरा फूल
मंगलवार सुबह खाद्य आपूर्ति विभाग की सीबीसी टीम द्वारा दबिश देकर रामपुरा-मौड़ पर एक राईस मिल तथा मिल से कुछ दुरी पर सड़क पर लावारिस हालत में खड़े धान से लदे ट्रक पांच ट्रक जब्त किए थे। विभाग द्वारा इसकी सुचना मार्केट कमेटी रामपुरा फूल को दिए जाने के बाद मार्केट कमेटी द्वारा सड़क पर खड़े ट्रकों से मिली बिलटी के आधार पर मार्केट फीस चोरी करने के आरोप में भले ही आशीर्वाद ट्रेडिंग कंपनी को डेढ़ लाख रुपये जुर्माना कर दिया है। किंतु धान से भरे उक्त ट्रक किसने मंगवाए थे तथा बाद में यह ट्रक कहां पहुँचे इसका किसी के पास कोई जवाब नहीं है। इसके अलावा राईस मिल से पकड़े गए ट्रक संबंधी क्या कार्रवाई हुई इसके बारे में भी विभाग के स्थानीय अधिकारी अनभिज्ञता जता रहे हैं। वहीं इस पूरे मामले ने विभागीय कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगा दिए हैं। सूत्रों की मानें तो क्षेत्र के कुछ राईस मिल मालिकों द्वारा कथित तौर पर अपनी ही ट्रेडिंग कंपनी बनाकर बिहार आदि से करीब 1300 रुपये प्रति किंवटल के हिसाब से सी ग्रेड धान खरीद पंजाब लाया जा रहा है। इस दौरान बारडर पर चैकिंग के दौरान कथित तौर पर मिलीभगत कर मोहर ना लगाकर मार्केट फीस तथा सेल टैक्स की चोरी की जाती है। दुसरे राज्यों से आने वाले इस धान को पंजाब में ए-ग्रेड की कीमत 1835 रुपये प्रति किंवटल के हिसाब से बेचा जाता है। एक घोड़े-ट्राले में करीब 300 किंवटल माल आता है तो कंपनी द्वारा एक लाख बीस हजार रुपये प्रति ट्रक के हिसाब से कमाई की जा रही है। सूत्रों ने कहा कि विभागीय नियमानुसार गलत ढंग से धान खरीदने वाले शैलर को तीन वर्ष के लिए ब्लैक लिस्ट करने का प्राबधान है। किंतु कथित मिलीभगत के चलते अक्सर ही आरोपी विभागीय कार्रवाई से बच जाते हैं। सूत्रों ने बताया कि इस बार राज्य में धान की पैदावार में आई कमी के कारण शैलर मालिकों को खुद को घाटे से बचाने हेतु दुसरे राज्यों से आने वाला धान खरीदना पड़ रहा है तथा शैलर मालिकों की इसी मजबूरी का फायदा उठाकर ट्रेडिंग कंपनियों द्वारा चांदी कूटी जा रही है। इस संबंधी खाद्य आपूर्ति विभाग रामपुरा के एएफएसओ जगविंद्र सिंह से बात करने पर उन्होंने कहा कि सड़क से पकड़े गए ट्रकों पर कार्रवाई करने का अधिकार मार्केट कमेटी के पास है जबकि शैलर के अंदर से पकड़े गए ट्रक पर विभाग की सीबीसी टीम द्वारा कार्रवाई की जाऐगी। उधर मार्केट कमेटी रामपुरा फूल के सचिव बलकार सिंह से बात करने पर उन्होंने कहा कि हमारा काम जुर्माना लगाना था जो हमने लगा दिया है तथा ट्रक लाने वाली ट्रेडिंग कंपनी संबंधी खाद्य आपूर्ति विभाग के डीएफएसओ को अवगत करवा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here