नोएडा कोरोना हॉटस्पॉट, सीज़फायर कंपनी, और एएनआई का तब्लीगी जुनून

0
562

देश के अलग-अलग जिलों से तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों को लेकर कई बेसिर-पैर की ख़बरें लगातार आ रही हैं.

तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों को लेकर हिंदी मीडिया संस्थानों में प्रकाशित कुछ खबरों का शीर्षक बेहद हैरान करने वाला है. मसलन, ‘क्वारंटीन किए गए तब्लीगी जमाती खाने में मांग रहे कबाब, नहीं खा रहे दाल-रोटी’, ‘अस्पताल के खाने में 25-25 रोटियां खा रहे जमाती, बड़े गिलास में मांग रहे चाय’, ‘नहीं सुधर रहे जमाती, अब क्वारंटाइन सेंटर में सफाईकर्मी के मुंह पर फेंकी बेडशीट’, ‘क्वारंटाइन किये गए जमातियों ने खाने में नॉनवेज न मिलने पर किया जमकर हंगामा, जमातियों ने खुले में ही कर डाली शौच.’ आदि.

सोशल मीडिया और मुख्यधारा के मीडिया में तब्लीगी जमात से जुड़ी इसी तरह की भ्रामक जानकारियां फैलाई जा रही हैं.

जमातियों को लेकर भ्रामक ख़बरें फ़ैलाने में समाचार एजेंसी एएनआई भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहा है, जिसे फेक न्यूज़ फैलाने के कारण बीते दिनों एक बड़ी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा.

एएनआई ने फैलाया फेंक न्यूज़

बीते मंगलावर को नोएडा सेक्टर आठ में मौजूद झुग्गियों से लगभग 300 लोगों को नोएडा प्रशासन द्वारा कोरोना की जांच के लिए ले जाया गया. इसके बाद एनएनआई ने ट्वीट करके जानकारी दी कि इनका संबंध तब्लीगी जमात के लोगों से है.

एएनआई के यूपी ट्विटर हैंडल ने नोएडा के डीसीपी संकल्प शर्मा के हवाले से लिखा, ‘‘नोएडा सेक्टर 5 , हरौला में रहने वाले जिन लोगों को क्वारंटाइन किया गया है उनका संपर्क तब्लीगी जमात से था.’’

 

सबसे पहली गलती एएनआई अपने ट्वीट में यह की कि मंगलवार रात जिन लोगों को नोएडा प्रशासन ने क्वारंटाइन किया वे सेक्टर पांच के नहीं सेक्टर आठ की झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले हैं. दोनों झुग्गियां आमने-सामने ही हैं.

दूसरी गलती जिसको लेकर एएनआई को शर्मिंदगी उठानी पड़ी वो यह थी कि एक पुलिस अधिकारी के हवाले से झूठी ख़बर फैलाई गई. दरअसल जिन लोगों को मंगलवार को उठाया गया और जांच के लिए ग्रेटर नोएडा ले जाया गया. उनका कोई भी संबंध तब्लीगी जमात से नहीं है.

एएनआई के ट्वीट करने के बाद उसे एएनआई की एडिटर इन चीफ स्मिता प्रकाश ने रीट्वीट किया और लिखा ‘Be safe Noida’ यहीं नहीं जमात को लेकर अभियान छेड़ने वाले न्यूज़ 18 इंडिया के एंकर अमीश देवगन ने भी रीट्वीट करते हुए लिखा- ‘जमात ने कुछ भी नहीं छोड़ा. ‘आरपार’ इसे समझने में आपकी मदद करेगा.’’ आरपार अमीश देवगन के टीवी शो का नाम है. दो शब्दों में कहें तो अमीश देवगन मुसलमान और इस्लाम के एक्सपर्ट हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here