पुलिस, नर्सें, और सफ़ाई सेवकों को समर्पित’विश्व सेहत दिवस’: सिवल सर्जन -कोरोना महामारी की रोकथाम में नर्सों का अहम रोल

0
905

मानसा

हर साल विश्व सेहत दिवस 7अप्रैल को दुनिया भर में मनाया जाता है। इस साल विश्व सेहत दिवस सेहत विभाग की नर्सें, सफ़ाई सेवकों और पुलिस मुलाजिमों को समर्पित है, जो इस साल विश्व में फैली कोरोना की महामारी में अपना अहम रोल अदा कर रहे हैं।
सिवल सर्जन डा. लाल चंद ठकराल ने कहा कि इस मौके सेहत विभाग, पुलिस और सफ़ाई कर्मचारियों की तरफ से कोरोना वायरस प्रति लोगों को जागरूक करके सेवा निभाई जा रही है। जहाँ पुलिस करमियें द्वारों लोगों को घरों में रहने की अपील की जा रही है और निगरानी रखी जा रही है कि कोई भी बेवजाह अपने घर से बाहर न निक्कले वहाँ ही सेहत करमियें द्वारा लोगों को कोरोना वायरस की बीमारी के बचाव और इस के फैलाय को रोकनो के लिए योग्य उपरालों सम्बन्धित जागरूक किया जा रहा है। इस के साथ ही सफ़ाई सेवकों की तरफ से भी आधार किसी भय से अपना योगदान दिया जा रहा है। उन कहा कि इस संदर्भ में काम करती नर्सें और ओर सभी सेहत कर्मियों की सेहत सुरक्षा का भी ख़ास ख़्याल रखा जा रहा है। उन कहा कि इस महामारी विरुद्ध लड़ रहे सभी आधिकारियों कर्मचारियों का योगदान श्लाघायोग्य है।
सिवल सर्जन ने कहा कि सेहतमंद समाज की सृजन करना करन के मकसद के अंतर्गत विश्व सेहत दिवस मनाया जाता है। फ्लोरेंस नाईटिंगगेल को माडरन नरसिंग की संस्थापक के तौर पर जाना जाता है। उन को महिला विद लैम्प दे दे तौर पर भी संबोधन किया जाता है। विश्व भर में सेहत और सामाजिक कामों में 70 प्रतिशत औरतें कार्यशील हैं जितना में से नरसिंग स्टाफ एक मुक्खा हिस्सा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here