पुलिस ने ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम को हिरासत में लिया

0
967
A general view of the riot-hit area following clashes between people supporting and opposing a cententious amendment to India’s citizenship law, in New Delhi on February 27, 2020. - Sporadic violence hit parts of Delhi overnight as gangs roamed streets littered with the debris of days of sectarian riots that have killed 33 people, police said on February 27. (Photo by Money SHARMA / AFP)

नई दिल्ली

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में बीते माह हुए दंगों के मामले में पुलिस ने ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम को हिरासत में लिया है। ताहिर हुसैन आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा के हत्या मामले में आरोपी है। शाह आलम की  तलाश में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम पिछले कुछ दिनों से लगातार छापेमारी कर रही थी।

इससे पहले ताहिर हुसैन को गिरफ्तार करने वाली क्राइम ब्रांच की एसआईटी ने करीब पांच घंटों तक ताहिर से पूछताछ की थी। पूछताछ में ताहिर से 20 सवाल किए गए थे। उससे पूछा गया था कि घटना के समय वह कहां था?, वीडियो में उसके साथ जो नजर आ रहे हैं, वो लोग कौन हैं? बिल्डिंग में मौजूद दंगाई क्या उसके जानकार हैं?, क्या वो उसके कहने और  उकसाने पर वहां पहुंचे थे?, फरार होने के बाद वह कहां कहां रहा?, पुलिस से छिपने में उसकी किस-किसने मदद की?, क्या इस दंगे को किसी साजिश के तहत अंजाम दिया गया था?, इस तरह के कई सवाल ताहिर के सामने दागे गए।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हाल में हुए सांप्रदायिक दंगे के सिलसिले में करीब 700 मुकदमें दर्ज किए हैं और करीब 2,400 लोगों को पकड़ा गया है। पुलिस ने बताया कि उत्तरपूर्वी दिल्ली में पिछले महीने हुई हिंसा के संबंध में 2,387 लोगों को या तो हिरासत में लिया गया है या गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि अबतक 702 मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस के अनुसार 49 मुकदमे सशस्त्र कानून के तहत दर्ज किए गए हैं। उन्होंने बताया कि उत्तरपूर्वी दिल्ली के हिंसाग्रस्त इलाकों में अमन समिति के साथ 283 बैठकें की गई हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here