महानगर बठिंडा का जयपुर ज्वेलर्स भारतीय संस्कृति को अपने अंदर समेटे हुए हैं

3
1578

धीरज गर्ग, बठिंडा
यही कारण है कि सुहागिनों को जयपुर ज्वैलर्स में आकर खरीददारी करना बहुत लुभाता है। महानगर बठिंडा भारत के प्रत्येक राज्यों के निवासियों का रैन बसेरा है और जयपुर ज्वैलर्स ही उनकी पहली पसंद है। सुहाग की रक्षा के लिए प्रत्येक सुहागिनों द्वारा रखा जाने वाला करवा चौथ का व्रत को हर वह सुहागिन तब तक सफल नहीं मानती जब तक वह जयपुर ज्वैलर्स से कोई खरीददारी न कर लें और करवा चौथ के त्योहार पर जयपुर ज्वैलर्स अपने आप में एक प्रसिद्ध मेले से कम नहीं लगता। जयपुर ज्वैलर्स के संचालक मुकेश कुमार बिट्टू व उनके बेटे अमोल गर्ग ने बताया कि जयपुर ज्वैलर्स में भारत देश के प्रत्येक राज्यों की संस्कृति को देखते हुए सुहाग व श्रृंगार का प्रत्येक तरह का सामान मुहैया करवाया जाता है और इस वर्ष भी नए डिजाईनों से लैस हर तरह का सामान जयपुर ज्वैलर्स में सुहागिनों को सस्ते दामों में मुहैया करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि महानगर बठिंडा में देश के प्रत्येक राज्यों के लोगों द्वारा निवास किया जाता है, जिनको देखते हुए ही उनके द्वारा प्रत्येक राज्य के हिसाब से सुहाग का सामान मंगवाया जाता है।

डायमंड व सोने को मात दे रही जयपुर ज्वैलर्स की आर्टीफिशियल ज्वैलरी
मुकेश कुमार गर्ग बिट्टू व अमोल गर्ग ने बताया कि डायमंड व सोने की ज्वैलरी का क्रेज समय के साथ साथ काफी गिरता जा रहा है। जिसका कारण डायमंड व सोने के दामों में भारी वृद्धि होना है। महिलाओं में भी अब आर्टीफिशियल ज्वैलरी का क्रेज सिर चढ़ कर बोल रहा है। उन्होंने बताया कि जयुपर ज्वैलर्स में आर्टीफिशियल ज्वैलरी महिलाओं की पसंद के अनुसार ही मौजूद है व इस ज्वैलरी का दाम बाजार से काफी कम और आईटम भी कभी खराब न होने वाली होती है। यहां तक कि आर्टीफिशियल ज्वैलरी को देखकर एक बार तो सुनार भी चकमा खा जाता है, जिनको देखकर कोई भी यह नहीं कह सकता कि यह सब आर्टीफिशियल ज्वैलरी है।

करवा चौथ के त्योहार को बना रहा बेमिशाल
मुकेश गर्ग व अमोल गर्ग ने बताया कि जयपुर ज्वैलर्स पर मुहैया करवाई जाने वाली सुहाग व श्रृंगार की वस्तुएं करवा चौथ के त्योहार को और भी रंगीन बना देती है। उन्होंने बताया कि इस बार स्पैशल ज्वैलरी व सुहाग के सामान में कांच के ऊपर धागे का वर्क लगी चुडियां, स्टोन चुडियां, लटकन, ब्रास, कुंदन, पोल्की चुडियां सुहागिनों की पहली पसंद है। वहीं चौकर सैट, ईयर रिंगज,कलर मेचिंग,जड़ाऊ सैट, कोकटेल रिंगज बड़ी व हेयर असैसरी फलावर सस्ते दामों पर मुहैया करवाई जा रही है।

प्रत्येक राज्य की संस्कृति एक ही छत के नीचे मुहैया
मुकेश गर्ग व अमोल गर्ग ने बताया कि उनके द्वारा प्रत्येक राज्य की संस्कृति को ध्यान में रखते हुए उन राज्यों की सुहाग व श्रृंगारी पहचान को प्रमुख रखकर प्रत्येक राज्यों से सामान मंगवाया जाता है। यही कारण है कि जयपुर ज्वैलर्स भारत देश के प्रत्येक राज्यों की शान व पहचान बना हुआ है। उन्होंने बताया कि पोल्का ज्वैलरी मुंबई की प्रसिद्ध ज्वैलरी है,जबकि अमेरिकन डायमंड कोलकाता, वैस्टर्न ज्वैलरी कोरियन, जड़ाऊ ज्वैलरी श्री अमृतसर साहिब व ब्रास बैंगल्ज जयपुर की प्रमुख पहचान है। इसके अलावा पंजाबी, राजस्थानी,बंगाली, हरियाणवी, हिमाचली,गुजराती, मराठी सहित प्रत्येक राज्य की संस्कृति व पहरावे के हिसाब से मंगवाई गई ज्वैलरी ही प्रत्येक सुहागिनो को जयपुर ज्वैलर्स की तरफ आकर्षित कर रही है।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here