युवक से फाइनांस कंपनी के स्टाफ ने की बदतमीजी, जहर निगल गंवाई जान

0
988

बठिंडा
संगत मंडी में शुक्रवार को कर्ज के दुखी एक किसान द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि वह फाइनांस कंपनी के मुलाजिमों के बुरे बर्ताव के कारण परेशान था। किश्त देने गया तो वहां उसके साथ बदतमीजी की गई, जिसके बाद उसने जहर निगल लिया। पुलिस ने मृतक के पिता की शिकायत पर फाइनांस कंपनी और उसके मुलाजिम के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्ज किया है।

मृतक किसान की पहचान 19 वर्षीय सुखमनजीत सिंह पुत्र इकबाल सिंह वासी गांव मल्लवाला थाना संगत के तौर पर हुई है। उसके पास सिर्फ ढाई कनाल जमीन थी। सुखमनजीत के पिता और दादा ने करीब सात लाख रुपए का कर्ज ले रखा था। सुखमनजीत ने साल 2017 में महिंदरा फाइनांस कंपनी से कर्जा लेकर एक ट्रैक्टर खरीदा था। कर्ज की किस्त न भरी जाने के कारण फाइनांस कंपनी के मुलाजिम ट्रैक्टर ले गए थे। सुखमनजीत सिंह किस्त भरने के लिए फाइनांस कंपनी के दफ्तर गया था। कंपनी के मुलाजिमों ने उक्त किसान से बुरा बर्ताव किया, जिससे परेशान होकर सुखमनजीत ने घर आकर जहरीली दवाई निगल कर खुदकुशी कर ली।

सरकारी अस्पताल में मृतक का पोस्टमॉर्टम करवाने आए ब्लॉक समिति के मेंबर इकबाल सिंह, पूर्व पंच दर्शन सिंह और मौजूदा सरपंच पाला राम ने बताया कि सुखमनजीत कर्ज की किस्त भरने के लिए बठाँडा स्थित महिंदरा फाइनांस कंपनी के दफ्तर गया था, जहां कंपनी के मुलाजिमों ने सुखमनजीत से बुरा बर्ताव किया। चार फरवरी की शाम को सुखमनजीत ने घर में रखा कीटनाशक निगल लिया।

उसे गंभीर हालत में एक निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया था, जहां इलाज दौरान उक्त किसान ने दम तोड़ दिया। थाना संगत के एसएसआई अमृतपाल सिंह ने बताया कि सुखमनजीत के पिता इकबाल सिंह के बयान पर महिदरा फाइनांस कंपनी और उसके मुलाजिम रवि कुमार सहित अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here