वित्त मंत्री का डीजीपी को परामर्श – पुलिस फोर्स को ‘मुलाज़ीम ’ की बजाय कहा जाये ‘जवान ’ या ‘शेर ’ केंद्र ने कोविड के लिए अलग तौर पर कोई फंड जारी नहीं किया मनप्रीत सिंह बादल पुलिस जवानों, डाक्टरों और राशन पहुँचाने वालों की की हौसला अफजाई

0
518

बठिंडा,धीरज गर्ग
पंजाब के वित्त मंत्री स: मनप्रीत सिंह बादल ने आज पंजाब के डीजीपी को सुझाव दिया है कि पुलिस फोर्स की संख्या को मुलाज़ीम कहने की बजाय ‘जवान ’ या ‘शेर ’ कहा जाये क्योंकि अपने समाज के लिए अपनी, जानें तक कुर्बान करन के लिए तैयार रहने वाले यह जवान सिर्फ़ मुलाज़ीम नहीं होते बल्कि इतना का रुतबा इस्ते कहीं ऊँचा है।
वह आज यहाँ बठिंडा शहर में लोक को करोना के कहर से बचाने के लिए दिन रात ड्यूटी निभाय रहे पंजाब पुलिस के जवानों की हौसला अफजायी के लिए पुलिस नाकों और पहुँचे थे। स: बादल ने इस मौके पत्रकारों के साथ बातचीत करते कहा कि हमें हमारी बहादुर फोर्स के मान है और पटियाला जैसी मंदभागी घटनाएँ हमारे जवानों के हौसले कम नहीं कर सकतीं।


स: बादल ने कहा कि अपने लोगों को कोविड 19 से बचाने के लिए हमारी पुलिस फोर्स के जवान शखत ड्यूटी कर रहे हैं। उन्हों ने कहा कि यह हमारे पूरे समाज के लिए चुनौती का समय है और नागरिकों को भी प्रशासन और पुलिस के साथ सहयोग करना चाहिए क्योंकि इस बीमारी को पैसो के साथ नहीं रोका जा सकता बल्कि इस को फैलने से रोकनो का एक ही विधि घर रहना है।


एक ओर सवाल के जवाब में ख़ज़ाना मंत्री ने स्पष्ट किया कि कोविड 19 के मुकाबलो के लिए पंजाब को केंद्र से कोई सहायता राशि प्राप्त नहीं हुई है बल्कि पिछले समय में सूबे को जो राशि प्राप्त हुई है वह राज की केंद्र की तरफ जीऐस्टी मुआवज़ा, मालियों कमी अनुदान और आफ़त राहत फंड की बकाया ग्रांटा ही हैं। उन्हों ने कहा कि सूबो की इतना मदों का भी अभी चार ओर महीनों का बकाया केंद्र सरकार की तरफ खड़ा है। परन्तु साथ ही उन्हों ने दुहरायआ कि यह समय राजनीति करन का नहीं है। उन्हों ने कहा कि यदि फ़िलहाल केंद्र सूबों की सहायता करन में असमर्थ है तो हम भारत सरकार की मजबूरी को समझते अपने स्तर पर स्थितियों को पूर करने के लिए काम कर रहे हैं।


गेहूँ की खरीद सम्बन्धित पूछे सवाल का जवाब देते स: मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि पंजाब का यह एक अच्छा पक्ष है कि हमारे अरथचारे में गेहूँ की सरकारी खरीद के द्वारा कोई 25000 करोड़ रुपए का निवेस होने जा रहा है और यह रकम हमारी अरथाकिता के लिए बड़ा सहारा साबित होगी। उन्हों ने दुहरायआ कि मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह का नेतृत्व वाली सूबा सरकार गेहूँ का एक एक दाना ख़रीदेगी परन्तु मंडियों में सामाजिक दूरी बनाई रखने के लिए गेहूँ खरीद की प्रिया को 3हफ्ते से बडा कर 8 हफ्ते की गई है।

इस दौरान वित्त मंत्री जरूरतमंद लोगों तक पक्वतों पकाया राशन उपलभ्ध करवाने वाली संस्थायों की हौसला अफजायी के लिए भी पहुँचे और डा: वितुल्ल कर गुप्ता की तरफ से दवाओं की उपलबद्धता के लिए लगाए कैंप में उन का शुकराना करन के लिए पहुँचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here