शिअद-बसपा ने आम आदमी पार्टी के कुशासन का एक साल पूरा होने पर धरने दिए

0
148

सुखबीर सिंह बादल ने लंबी और भुच्चो हलके के धरनो की अगुवाई की

धीरज गर्ग, बठिंडा 

शिरोमणी अकाली दल -बहुजन समाज पार्टी ने आम आदमी पार्टी के कुशासन के एक साल पूरा होने पर जिसके दौरान पंजाब में कानून-व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह ध्वस्त होने के अलावा पंजाब को अराजकता की ओर ले जाने के अलावा भगवंत मान सरकार अपने सभी वादों से मुकरने पर धरने दिए हैं। अकाली दल अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने लंबी और भुच्चो हल्कों के आयोजित धरनों की अध्यक्षता के दौरान कहा कि ऐसा लगता है कि राज्य को भगवंत मान नही बल्कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई चला रहा है। उन्होने कहा, ‘‘ लॉरेंस तय करता है कि कौन जीवित रहेगा यां मरेगा यां कौन कितना टैक्स अदा करेगा’’। उन्होने कहा कि इस स्थिति के कारण पंजाब से उद्योग दूसरे राज्यों में पलायन कर रहे हैं और आम आदमी असुरक्षित महसूस कर रहा है’’। सुखबीर सिंह बादल ने यह कहते हुए कि मुख्यमंत्री बदलाखोरी की तुच्छ राजनीति करने में व्यस्त है। उन्होने कहा, ‘‘ वह दिन दूर नही, जब श्री भगवंत मान पर सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा वापिस लेने और उसका विज्ञापन करने के लिए मामला दर्ज किया जाएगा। उन्होने कहा कि श्री मान को आबकारी घोटाले सहित भ्रष्टाचार के मामलों का सामना करना पड़ेगा, जिसके कारण राज्य के खजाने को 500 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है’’। अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री ने राज्य को अपने हाल पर छोड़ दिया है, क्योंकि वर्तमान में वह मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार करने में व्यस्त हैं, क्योंकि विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। उन्होनें कहा, ‘‘ पहले मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा चुनावों में आप पार्टी का प्रचार करने में व्यस्त थे’’।उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री पंजाब के संसाधनों को बर्बाद कर रहे हैं और पूरे देश में आप पार्टी के विज्ञापन के लिए 750 करोड़ निर्धारित किए गए हैं, खासतौर पर उन राज्यों में जहां चुनाव हो रहे हैं। उन्होने कहा कि इसी वजह से आटा-दाल स्कीम, शगुन योजना और बुढ़ापा पेंशन जैसे सामाजिक भलाई जैसी योजनाओं में कटौती की गई है। सरदार बादल ने कहा कि अब सरकार खेती में इस्तेमाल किए जाने वाले टयूबवेल पर मीटर लगाने की दिशा में आगे बढ़ रही है, जो उचित रिचार्ज होने पर ही चलेगें। उन्होने कहा कि इसका पूर्व मुख्यमंत्री सरकार परकाश सिंह बादल द्वारा किसानों को दी जाने वाली मुफ्त बिजली सुविधा पर बहुत असर पड़ेगा।अकाली दल अध्यक्ष ने पंजाबियों से पंजाब और पंजाबियों की असली ‘‘वारिस’ शिरोमणी अकाली दल को मजबूत करने की भी अपील की है। उन्होने कहा कि अकाली दल के चुनावी मैदान में कमजोर पड़ने के बाद उनकी विरोधी ताकतों ने शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) को तोड़ने के लिए एक अलग हरियाणा और दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी बनाई गई, जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा चलाई जा रही है। लंबी और भुच्चो दोनो धरनों में पंजाबियों ने शानदार उपस्थिति दर्ज कराई और भ्रष्ट आप पार्टी की सरकार को हटाने की मांग की और 2024 के संसदीय चुनावों में आप पार्टी के सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त करने के लिए काम करने का संकल्प लिया। श्री बलविंदर सिंह भूंदड़ ने लंबी और भुच्चो धरनों में भाग लिया। राज्य भर में सफल धरने आयोजित किए गए, जिनमें वरिष्ठ नेता गुरचरण सिंह बब्बेहाली और सुच्चा सिंह छोटेपुर ने गुरदासपुर और दीनानगर में धरने का नेतृत्व किया, सुरिंदरसिंह भुल्लेवाल राठा ने गढ़शंकर, प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा और dr दलजीत सिंह चीमा ने श्री आनंदपुर साहिब, शरणजीत सिंह ढ़िल्लों और एस आर कलेर ने जगराओं में, गुरप्रीत सिंह राजुखन्ना और सरबजीत सिंह झिंझर फतेहगढ़ साहिब, महेश इंदरसिंह ग्रेवाल ने बस्सी पठाना, तीर्थ सिंह माहला और बलदेव सिंह मनुके ने निहालसिंहवाला, जनमेजा सिंह सेखों , जोगिंदर सिंह जिंदू और मोंटू वोहरा ने फिरोजपुर, गोबिंद सिंह लोंगोंवाल ने लेहरा तथा सुरजीत सिंह रखड़ा और जसपाल सिंह चटठा ने पटियाला(ग्रामीण) में धरना दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here