सीसीटीवी / स्कूल के मैन गेट पर गार्ड नहीं था, दौड़कर बीच सड़क आए प्री-नर्सरी के स्टूडेंट को कार ने कुचला

1
1142

लुधियाना धीरज गर्ग 

लुधियाना में मंगलवार को प्री-नर्सरी के एक छात्र की सड़क हादसे में मौत हो गई। स्कूल के मैन गेट पर सिक्योरिटी गार्ड तैनात नहीं था। जैसे ही छुट्‌टी के बाद बच्चा बाहर निकला तो एक तेज रफ्तार कार उसे रौंदते हुए निकल गई। बच्चों को ऑटो में बिठा रहा चालक सड़क पर गिरे इस बच्चे को लेकर पैदल ही भागकर अस्पताल पहुंचा। डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया।

घटना विवेक नगर में सरस्वती मॉडर्न स्कूल के मैन गेट की है। सिविल लाइंस के इंद्रप्रस्थ नगर के साढ़े तीन साल का विदांत श्रीवास्तव यहां प्री-नर्सरी में पढ़ता था। मंगलवार दोपहर करीब 1 बजे जब छुट्टी हुई तो विदांत स्कूल के मेन गेट पर आकर खड़ा हो गया। ऑटो चालक ने 3 बच्चों को ऑटो में बिठाया, मगर गेट पर गार्ड न होने के कारण विदांत खुद ही बाहर रोड पर चला गया। इसी दौरान सफेद एंडेवर की चपेट में आ गया। जांच अफसर एएसआई इकबाल सिंह ने बताया कि हादसा सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गया। इससे कार का नंबर निकलवाकर ड्राइवर की तलाश की जा रही है।

आरोपी को पकड़ने के बाद होगा संस्कार
पिता रवि का आरोप है कि स्कूल की लापरवाही से हादसा हुआ। उनके अनुसार जब विदांत वहां खड़ा था तब गार्ड नहीं था। इसी कारण वह भागकर बाहर आ गया। उन्होंने स्कूल प्रबंधकों से संपर्क भी किया, लेकिन उन्होंने बात नहीं की। अगर पुलिस ने स्कूल और कार चालक पर एक्शन न लिया तो वह बुधवार को प्रदर्शन करेंगे।

स्कूल में न ही पार्किंग और न ही साइन बोर्ड
स्कूल के बाहर रोड से 10 से 15 हजार वाहन गुजरते हैं और यहां एक हजार बच्चे पढ़ते हैं। मगर स्कूल में पार्किंग व्यवस्था तक नहीं है। इस कारण ऑटो सड़क पर खड़े कर बच्चे बैठाए जाते हैं। वहीं, सड़क पर स्पीड लिमिट, आगे स्कूल है यहां तक कि सड़क पर कोई स्पीड ब्रेक भी नहीं है।

मां ने बनाई थीं बेटे की मनपसंद चीजें
पिता रवि ने बताया कि उनका इकलौता बेटा विदांत जब स्कूल से घर आता था तो मां प्रीति पहले ही उसकी मनपसंद चीजें बनाकर रखती थी। मंगलवार को भी खाने की चीजें बनाकर रखी थी। उसके घर के कपड़े भी निकालकर रखे थे। विदांत घूमने का शौकीन था। जिसके चलते हादसे की शाम भी उसने अपनी मां के साथ घुमने के लिए जाना था।

प्रिंसिपल बोले- रिश्तेदार आए हैं, अभी व्यस्त हूं

जब प्रिंसिपल को फोन कर संपर्क किया तो उन्होंने पहले रॉन्ग नंबर कहा। लेकिन जब उन्हें सीधा हादसे के बारे में पूछा गया तो प्रिंसिपल बोले कि अभी उनके घर पर रिश्तेदार आने के कारण वह व्यस्त हैं।

मां रो-रोकर कहती रही- बेटा तू जल्दी घर आ जा तेरे साथ खेलूंगी
मां प्रीति को विदांत की मौत की जानकारी नहीं दी गई। उसे बताया कि विदांत को मामूली चोटें आई हैं। देर रात तक प्रीति बेटे को याद कर रोती रही। वह कहती रही कि मेरा बेटा कब ठीक होकर आएगा और मुझे गले से लगाएगा, लेकिन उसे क्या पता कि उसका बेटा अब कभी नहीं आएगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here