72 वें सालाना निरंकारी संत समागम की तैयारियों के लिए सेवा शुरू

0
942

अनिल कुमार, बठिंडा
बठिंडा,72 वें सालाना निरंकारी संत समागम की तैयारी मुकम्मल करन के लिए सत्गुरू माता सुदीकशा जी महाराज की आपार कृपा के साथ सवैइच्छक सेवा करन के लिए काम की शुरुआत की गई। यह जानकारी देते संत निरंकारी मंडल के ज़ोनल इंचार्ज श्री ऐस.पी.दुग्गल ने बताया कि यह समागम 16 नवंबर से 18 नवंबर, 2019 तक संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थान, नज़दीक समालखा (हरियाणा) में होने जा रहा है।

इस दौरान श्री एस पी दुग्गल ने सप्ताहिक सतसंग में अपने विचार प्रकट करते बताया कि इस समागम दीया तैयारियों के लिए सेवादल के सदस्यों और साध संगत के सदस्यों की तरफ से अधिक चढ़कर सेवा कर रहे हैं और एक दूसरे के लिए सहयोग की भावना प्रति समर्पित हो कर अपना योगदान डाल रहे हैं। बठिंडा से भी हर हफ़्ते सिफटवाईज सेवादल की भैना और भाइयों की तरफ से समागम की तैयारियों के लिए वहां जा कर सेवा निभा रहे हैं और सत्गुरू माता सुदीकशा जी महाराज की भरपूर आशीरवादें प्राप्त कर रहे हैं।

 सत्गुरू माता सुदीकशा जी महाराज की अपार कृपा के साथ मिशन के प्रचार को प्रेम प्यार, नम्रता, सहनसीलता जैसे गुणा सदका मानवता के भले ली घर -घर पहुंचाउना हमारी नैतिक जुमेवरी है।  हमें हमेशा सेवा, सिमरन और सतसंग के गहनों को अपने जीवन अंदर धारण करना है। सत्गुरू माता जी की तरफ से समागम में सेवा करन वाले हरेक श्रद्धालु संतों और सेवकों की खुशियाँ और तन्दरुती के लिए निरंकार आगे अरदास की। इस सालाना समागम में पहुँचने के लिए जिले की बराचें की तरफ से साध संगत की सुविधा के लिए व्यापक प्रबंध किये जाएंगे।
 इस समागम में सामल होने के लिए समूचे भारत से लाखों की संख्या में श्रद्धालू महापुरुष पहुँच रहे हैं और इस के इलावा विदेशों से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालू पहुँच रहे हैं।  समागम को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे विभाग ने रेल की टिकटों में 50% की छूट देने का फ़ैसला किया है। यह छूट 5000 /- रुपए तक प्रति महीना आमदन वाले व्यक्तियों के लिए 300 किलोमीटर और उसतों दूर की दूरी से यात्रा करन वालों के लिए उपलब्ध होगी। रेलवे विभाग ने हरेक ऐक्सप्रैस पर मेल रेल गाड़ी को समागम स्थान के नज़दीक भोडवाल माजरी रेलवे स्टेशन पर 5 नवंबर से 30 नवंबर, 2019 तक 3 मिनट के लिए रोकनो का फ़ैसला भी किया है।
समागम वाली जगह पर मुख्य सतिसंग पंडाल और रिहायशी टैंटों की बड़ी कलोनियें के इलावा समागम मैदान में अलग अलग दफ़्तर, प्रदर्शनी, प्रकाशन स्टाल, लंगर, कैंटीन और डिस्पेंसरी आदि उपलब्ध होंगे। बसें साथ-साथ ओर वहीकलों के लिए पार्किंग की भी पूरी सुविधा की गई है।  समागम में पहुचण वाले सरधालूओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सोचाल्या (लैटरीनें) आदि का प्रबंध भी होगा। ऊना बताया कि समागम वाली जगह में साफ़ सफ़ाई की तरफ विशेष ध्यान रखा जाये।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here