अस्पताल में भर्ती मां के इलाज को नहीं थे पैसे, दुखी बेटे ने की खुदकुशी, सदमे में मां की भी मौत

0
661

नीरज मंगला बरनाला 

 अस्पताल में पड़ी मां का इलाज करवाने के लिए बेटे के पास रुपए नहीं थे। बेटे ने दुखी होकर अत्महत्या कर ली। बेटे की मौत के सदमे में मां परमजीत कौर ने भी तोड़ दिया। एक ही दिन में हुई 2 मौतों से इलाके में शोक की लहर छा गई। घटना जिले के क्षेत्र तपा की ढिलवां बस्ती की है। मृतक लड़के की एक साल पहले ही शादी हुई थी। अपनी मां का इलाज सही तरीके से नहीं हो पाने से वह इतना निराश हो गया कि उसने सुबह 7 बजे पेड़ से लटककर अात्महत्या कर ली। तपा के रहने वाले मृतक अमनदीप सिंह के भाई बलजिंदर ने बताया कि उनकी माता राजिंदरा अस्पताल पटियाला में भर्ती हैं।

उसका भाई शुक्रवार देर शाम को पटियाला से आया था। उनकी माता को गंभीर बीमारी है, जिसके इलाज के लिए रूपए की जरूरत थी। उसके भाई 26 साल का था। वह घर में रुपए का इंतजाम करने की बातें कर रहे थे। लेकिन उनसे रुपए का इंतजाम नहीं हो पा रहा था। इसके  चलते पूरा परिवार परेशान था। इसके चलते उसने अत्महत्या कर ली है।

रुपए का इंतजाम करने की बात कहकर गया था, सुबह घर में आई लाश

मृतक अमनदीप के भाई बलजिंदर ने बताया कि देर शाम वह घर से रुपए का इंतजाम करके वापस आने की बात कह कर गया था। लेकिन वह पूरी रात घर नहीं आया। सुबह उन्हें किसी ने आकर बताया कि उसके बेटे की मौत हो चुकी है। उसने बताया वह गरीब परिवार से है। उसका भाई मजदूरी करता था। तंगी के कारण उसने अत्महत्या कर ली। राजिंदरा अस्पताल पटियाला में उसकी माता का इलाज चल रहा था। जब उसकी मां को बेटे की अात्महत्या का पता चला तो आधे घंटे बाद सदमे में मां की भी मौत हो गई। मां-बेटे का एक साथ संस्कार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here