कर्फ्यू दौरान सब्जी मार्किट खुलने के पहले दिन ही थोक व परचुन विक्रेताओं ने नियमों को तोड़ा

0
925

गिद्दड़बाहा, शक्ति जिंदल

प्रशासन की ओर से वीरवार से लोगो को घरों तक सब्जीयां पहुंचाने की खातिर लगाई गई रेहडिय़ां जैसी ही शहर की कपास मंडी से बाहर निकली तो लोगो का हजुम उमड़ पड़ा। हालाकि प्रशासन की ओर से शहर में मुहल्लों अंदर घरों में रहते लोगो के लिए अलग अलग करीब 33 रेहडिय़ा व नौ के करीब टैंपु लगाए गए थे। इसके साथ ही प्रशासन की ओर से कपास मंडी अंदर थोक विक्रेताओं को भी ज्यादा इक्कठ नही करने के आदेश जारी किए थे,मगर वीरवार को पहले दिन ही थोक व परचुन विक्रेताओं ने कर्फ़्यू के नियमों को तोड़ मरोड़ कर रख दिया। जिसके बाद जब इस सबंधी मार्किट कमेटी के सचिव प्रितपाल सिंह गिल को पता लगा तो उनकी ओर से खुद कपास मंडी में छापामारी कर सब्जी खरीदने पहुंचे लोगो को वहा से खदेड़ा व सब्जी विक्रेताओं को आगे से इस तरह की शिकायत मिलने पर सखत कार्यवाही करने की बात कही।
गिद्दड़बाहा प्रशासन की ओर से वीरवार को लोगो को जारी कर्फ़्यू दौरान कुछ सहुलियत देते हुए घरों तक रेहडिय़ों के जरिए सब्जी पहुंचाने का फैसला लिया था। जिसके तहत इलाके अंदर करीब 33 रेहडिय़ा व नौ टैंपु लगाए गए थे। जोकि शहर के अलग- अलग मुहल्लों में जाकर लोगो में सब्जी बेच सके। इसके साथ ही सब्जी के रेट रेहडियों पर डिस्पले करके रखने के भी आदेश जारी किए थे। जबकि प्रशासन की ओर से जो रेहड़ी वालों को लगाया गया था,उनकी ओर से कपास मंडी से बाहर निकलते ही सब्जी बेचनी शुरू कर दी। जिससे लोगो का जमघट लग गया। जब इसकी जानकारी मार्किट कमेटी के सचिव प्रितपाल को मिली तो उनकी ओर से तहसीलदार गुरमेल सिंह के साथ मौके का मुआयना कर सब्जी खरीद रहे कुछ लोगो को वहां से खदेड़ा। जिसके बाद भारी तादार में इक्कठ करके सब्जीया बेच रहे थोक व रेहड़ी विक्रेताओं को आगामी समय में इस तरह का मामला सामने आने की सुरत में सखत कार्यवाही करने की बात कही। इस सबंध में मार्किट कमेटी सचिव प्रितपाल सिंह ने बताया कि शहर अंदर घरों में रहते लोगो तक सब्जी की सहुलियत देने की खातिर ही रेहडिय़ा लगवाई गई थी,इसके इलावा उनका कहना था कि ऐरिया मुताबिक रेहडिय़ा लगाई गई है। उन्होने बताया कि कुछ लोगो को इस कोरोना बीमारी के खतरनाक बारे नही पता है,जिसके चलते कुछ जगह दिक्कते हो सकती है,इसके लिए बकायदा पुलिस फोर्स लगाई गई है,जोकि प्रेट्रोलिग भी कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here