जनरल हाऊस की बैठक में बहुमत को दर किनार कर थोंपा प्रधान, मैंबरों में रोष

0
689

बठिंडा,कपिल। भवन निर्माण कर्मचारी संघ बठिंडा रजिस्ट्रड नंबर 35 के पूर्व पदाधिकारियों द्वारा जनरल हाऊस की बैठक दौरान बहुमत को दर किनार करके खुद ही बिना चुनाव करवाकर प्रधान थोंपने के मामले का भवन निर्माण कर्मचारी संघ के मैंबरों द्वारा विरोध शुरू कर दिया गया है। संघ के 250 से भी ज्यादा मैंबरों ने बैठक रखकर संघ के एक पदाधिकारी राजमणी यादव पर संघ को दो हिस्सों में बांटने का आरोप लगाया। बैठक में उपस्थित पूर्व प्रधान धर्मेंदर चौहान के अलावा देसराज, गुरदीप सिंह, मोहन पीओपी प्रधान, मोनू, सुभाष, श्रवण पटेल, शिव कुमार वर्मा, रामआसरे भट्टी रोड, अशोक कुमार, सुबोध कुमार, राजेश व अन्यों ने बताया कि भवन निर्माण कर्मचारी संघ के प्रधानगी पद के लिए एक वर्ष बाद चुनाव करवाए जाते हैं। जिसके तहत मौजूदा कार्यकारिणी को भंग कर दिया जाता है। धर्मेंदर चौहान ने बताया कि इस समय संघ की कार्यकारिणी भंग है व कार्यकारिणी के सदस्यों द्वारा प्राचीन हुनमान मंदिर में संघ के जनरल हाऊस की बैठक का आयोजन किया था। परंतु हैरानी की बात है कि बैठक में बिना मैंबरों की सलाह के राजमणी यादव ने संघ को दो हिस्सों में बांटने की कार्रवाई को अंजाम देते हुए ईश्वर को संघ का प्रधान थोंप दिया। उन्होंने बताया कि राजमणी व उसके सहयोगी सदस्यों की तादाद करीब 80 होगी, जिनका 250 से भी ज्यादा मैंबरों द्वारा विरोध किया गया और इस चुनाव को मानने से इंकार कर दिया। चौहान ने बताया कि संघ पर राजमणी यादव और उसके कुछ सहयोगी सदस्यों द्वारा कबजा करने का प्रयास था। इस दौरान संघ के मैंबर देसराज ने जब विरोध किया तो राजमणी यादव व उसके सहयोगियों ने उनको बैठक से बाहर का रास्ता दिखा दिया जो सरेआम धकेशाही के अलावा कुछ भी नहीं है। चौहान ने बताया कि संघ के प्रधानगी पद के लिए एक वर्ष का कार्यकाल होता है व बाद में मैंबरों की मौजूदगी में चुनावों का एलान किया जाता है व चुनावों में बहुमत प्राप्त करने वाले पदाधिकारी को प्रधान मनोनित किया जाता है। परंतु राजमणी यादव ने धके से जनरल हाऊस की बैठक को ही चुनाव का नाम देकर अपने खास मैंबर को प्रधान थोंप दिया जो उन्हें मंजूर नहीं है।
डीसी बठिंडा से मुलाकात करके की जाएगी चुनाव करवाने की मांग
धर्मेंदर चौहान ने बताया कि इस मामले को लेकर वह डीसी बठिंडा बी श्रीनिवासन से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा वह संघ के हैड ऑफिस में भी मामले को लेकर जाएंगे। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा डीसी बठिंडा से मांग की जाएगी कि संघ के निष्पक्ष तरीके से चुनाव करवाने के लिए पहले नए मैंबरों को संघ के साथ जोड़ा जाए व बाद में ऑबजर्वर तैनात करके डीसी बठिंडा अपनी निगरानी में संघ के प्रधानगी के चुनाव करवाएं ताकि चुनावों में बहुमत प्राप्त करने वाले पदाधिकारी को प्रधान मनोनित किया जा सके और संघ की कार्रवाई को सुचारू तरीके से चलाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here