नैटबॉल प्रोमोशन एसोसिएशन रजि. पंजाब का हुआ चयन

0
77

बठिंडा, (नीरज मंगला)।
पंजाब प्रदेश के अंदर 2017 से नैटबॉल खेल को जमीनी स्तर से प्रोमोट कर अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर लेजा कर लगातार पदक हासिल कर रही राज्य की खेल संस्था ‘नैटबॉल प्रोमोशन एसोसिएशन रजि. पंजाब’ की बठिंडा के मुख्यालय में वर्ष 2021-2025 टर्म के लिए पदाधिकारियों का चयन हुआ। जिसके दौरान संस्था के गौरी शंकर टंडन फिर से प्रधान एडवोकेट करन अवतार कपिल फिर से महासचिव और कोषाध्यक्ष खुशविन्दर कुमार भी चुने गए। यह चुनाव सेवामुक्त जज ने बतौर रिटर्निंग आफिसर और राष्ट्रीय खेल संस्था ‘भारतीय नैटबॉल संघ-एनएफआई’ से बतौर ऑब्जर्वर पहुंचे हरपाल सिंह की हाजिरी में करवाया गया। जिन्होंने प्रदेश की संस्था के प्रबंधों से खुश होकर चुने गए समूह ओहदेदारों को बधाई दी। गौरतलब है कि कोरोना-19 के नियमावली की पालना करते हुए ‘एनएफआई’ से बतौर ऑब्जर्वर नियुक्त किये सुनील अत्री सहित पंजाब के समूह जिलों के अधिकारियों के साथ ऑनलाइन वर्चुअली एनुअल जनरल मीटिंग की गई।
प्रैस को संबोधन करते हुए एनपीए के फिर से चयनित महासचिव एडवोकेट करन अवतार कपिल ने कहा कि प्रदेश की संस्था की तरफ से राष्ट्रीय खेल संस्था ‘भारतीय नैटबाल संघ-ऐनऐफआई’ के दिशा-निर्देशों तले खेल और खिलाडिय़ों को प्रोमोट किया जा रहा है। जिसके नतीजन ही स्वर्ण पदक, रजत व कांस्य पदक हासिल हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह चुनाव साल 2021-2025 टर्म के लिए है। चुने गए बाकी पदाधिकारियों में वरिष्ठ उपाध्यक्ष -जतिन्दर आगरा मानसा, उपाध्यक्ष-कुनाल रिखी संगरूर, अखिलेश बांसल बरनाला, कोमल सिंगला पटियाला, ऐसोसिएट सैक्ेटरी-मुनीश शर्मा बठिंडा, जसविन्दर काला मुक्तसर, दमनप्रीत सिंह रोपड़, पंकज झुनोटिया पठानकोट, दीपक नागपाल फाजिल्का, कार्यकारिणी सदस्य-दिनेश शर्मा, शशि सिलारिया, सीमा, हरप्रीत सिंह, करमजीत सिंह, कुलविन्दर सिंह, पूजा रानी, खुशदीप सिंह, ममता, राजनदीप शर्मा, अर्शदीप सिंह चुने गए। खेल संस्था के चुने गए प्रदेश उपाध्यक्ष अखिलेश बांसल ने ख़ुशी का प्रक्टावा करते हुए कहा कि भविष्य में नैटबॉल खेल को अधिक बुलन्दियों पर लेजाया जायेगा।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश की नेटबॉल खेल संस्था ‘नैटबॉल प्रोमोशन एसोसिएशन रजि. पंजाब’ सरकार के मिश्न तंदरुस्त पंजाब मुहिम को प्रमुखता से आगे ले जा रही है। जो कि राष्ट्रीय खेल संस्था ‘भारतीय नैटबाल संघ-ऐनऐफआई’ से मान्यता प्राप्त है और ‘ऐनऐफआई’ संस्था ‘खेल मंत्रालय भारत सरकार’ और ‘भारतीय ओलंपिक संघ’ से मान्यता प्राप्त है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here