रिटायर्ड व सीनियर सिटीजन ब्रदरहुड ने किया स्वास्थ्य जागरूकता वार्ता का आयोजन।

0
983

बठिंडा। (कपिल) बठिंडा के वरिष्ठ नागरिकों की अग्रणी संस्था रिटाइर्ड व सीनियर सिटिज़न ब्रदरहुड बठिंडा द्वारा 30 अगस्त दिन शुक्रवार को दिल्ली हार्ट हॉस्पिटल के ऑडिटोरियम में एक स्वास्थ्य जागरूकता व्यख्यान का आयोजन किया गया। आरम्भ में हॉस्पिटल के मुख्य प्रशासक संदीप परछंदा दवारा दिल्ली हॉस्पिटल के सुपरस्पेसलिस्ट डाक्टरों से पहचान करवाई गई तथा हॉस्पिटल में उपलब्ध अत्याधुनिक उपकरणों व यहाँ उपलब्ध आधुनिक सेवाओं के बारे में जानकारी दी गई । उन्होंने कहा की हमारे हॉस्पिटल का मुख्य उदेश्य मालवा के इस कम विकसित व स्वास्थ के क्षेत्र में उपेक्षित क्षेत्र को किफायती दरों पर विश्वस्तरीय आधुनिक मेडिकल सुबिधाएँ उपलब्ध करवाना है। ब्रदरहुड के प्रेस सचिव एम आर जिन्दल ने बताया की इस मोके पर दिल्ली हार्ट हॉस्पिटल की न्यूरोलॉजिस्ट डा: रूबी चोपड़ा डी एम न्यूओरोलॉजी ने कहा की उम्र के बढ़ने के साथ साथ वृद्धावस्था में कई न्यूरोलॉजिकल अनियमतायें शरीर को घेर लेतीं हैं। जैसे की भूलने की आदत, हाथों का कांपना, दौरा पड़ना, सिरदर्द, अधरंग का अटैक इत्यादि समस्याएं अक्सर इस अवस्था में देखने को मिलती हैं। हमे कभी भी ऐसी समस्या आने पर इन्हे नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए, बल्कि तुरंत चिकित्स्क से परामर्श करना चाहिए। अपने ब्लड प्रेशर की नियमित जाँच करवानी चाहिए, मोटापा को घटाना चाहिए, मीठे का उपयोग बंद करना चाहिए और शराब व सिगरेट को नज़दीक नहीं आने देना चाहिए और प्रतिदिन शरीरक कशरत करनी चाहिए। ऐसा करने से ही हम अपने जीवन के इस स्वर्णिम पड़ाव को अच्छे से जी सकते हैं । इस मोके पर आहार विशेषज्ञ डा: रेनुका मधोक ने वरिष्ठ नागरिकों को तंदरुस्त रहने में संतुलित भोजन के रोल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उम्र के इस पड़ाव पर क्या खाना चाहिए, क्या नहीं कहना चाहिए और कब खाना चाहिए के बारे में बहुत ही सरल भाषा में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने अपनी वार्ता में कहा की उम्र के इस पड़ाव पर शरीरिक गतिविधि का कम होना व हड्डियों की घनत्वता में गिरावट, पाचन तंत्र में गड़बड़ी, निजी स्वाद, दृष्टि का कम होना व जोड़ो की समस्याएं आम बात है। हमे इनके बारे में ज्यादा सोच कर अपने मन में किसी भी तरह की कुंठा पैदा करने की बजाय इसे प्रकृति का नियम समझ कर सहज मन से स्वीकार करना चाहिए, तभी हम अपने खानपान व दैनिक दिनचर्या में कुछ बदलाव करके जीवन की इस स्टेज पर भी स्वस्थ व आनन्दमयी जीवन जी पाएंगे। उन्होंने कहा की हमे अपने भोजन में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, पोटासियम को सम्मिलित करके संतुलित भोजन करना चाहिए तथा दिन में अधिकतम पानी पीने के साथ साथ शरीरक गतिविधि करके हम स्वस्थ रह सकते हैं। आज के कार्यक्रम में ब्रदरहुड के सचिव मखन लाल मंगल, केशियर रमेश गर्ग, कल्चरल सेक्रेटरी कुलदीप धींगड़ा, प्रेस सचिव एम आर जिन्दल, उपप्रधान नरेश मोहन बांसल, सत पाल गोयल, डा: विवेक जैन, सीता राम मितल, सी एम अग्रवाल, सुभाष गुप्ता,पवन जिंदल,के विश्वनाथन, अशोक सिंगला, ओपी सिडाना, रमेश वधवा, इंदरजीत सिंह विरदी, हरमंदिर सिंह सिधु, अश्वनी बेरी, हरभजन सिंह नेगी, रमेश कुमार गुप्ता, कुलभूषण गुप्ता, इंदरजीत गुप्ता, जी सी गोयल व रमेश बांसल सपरिवार उपस्थित थे। इसके बाद ब्रदरहुड के प्रधान प्रो: अशोक गुप्ता ने दिल्ली हार्ट हॉस्पिटल की समस्त टीम विशेषकर डा: नरेश गोयल, डा: रूबी चोपड़ा डी एम न्यूओरोलॉजी , डा: रेणुका मधोक व हॉस्पिटल के मुख्य प्रशासक संदीप परछंदा, मिसेज़ पायल बांसल तथा ब्रदरहुड के सभी सदस्यों का धन्यबाद किया। आखिर में हॉस्पिटल प्रबंधन की और से ब्रदरहुड के सभी सदस्यों के लिए चाय नाश्ता की सेवा की गई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here