शुक्रवार अमावस्या की रात मिलेगा छप्पर फाड़ के धन, केवल एक बार कर लें ये तांत्रिक उपाय

0
1000

धर्मगुरु

शुक्रवार 24 जनवरी को माघ मास की अमावस्या तिथि है, इस दिन शुक्रवार होने के कारण इस तिथि का महत्व स्वतः ही बढ़ जाता है। क्योंकि शुक्रवार का दिन धन की देवी माता महालक्ष्मी की पूजा अर्चना का विशेष दिन माना जाता है। अगर शुक्रवार के दिन अमावस्या तिथि पड़ जाये तो इस अवसर को सोने पे सुहागा जैसा महत्व शास्त्रों में दिया गया है। अगर इस अमावस्या को धन प्राप्ति के लिए कुछ विशेष उपाय किए जाए तो व्यक्ति के जीवन की सारी परेशानियां खत्म होने लगती है।

धर्म शास्त्रों में गाय माता को देवी कामधेनु की संज्ञा दी गई है और हिन्दू धर्म में तैतीस कोटि देवी देवताओं का निवास स्थान मानकर पूजा की जाती है। अगर आप चाहते हैं कि आपके घर में धन और अन्न की कभी भी कमी न हो तो शुक्रवार माघ मास की अमावस्या तिथि के दिन अपने घर में बनी पहली रोटी घर की सबसे छोटी कन्या के हाथों से गाय को खिलावें। ऐसा करने से उपायकर्ता के घर में माँ लक्ष्मी हमेशा निवास करने लगती है और घर परिवार की दरिद्रता हमेशा के लिए दूर हो जाती है।

शुक्रवार अमावस्या के दिन अपनी सामर्थ्य के अनुसार गरीबों और असहाय लोगों की सेवा सहायता करें, उनको भोजन करावें। ऐसा करने से भौतिक सुख साधनों की प्राप्ती होती है।

भगवान विष्‍णु की पूजा करें- माता लक्ष्‍मी भगवान श्री विष्‍णु की आर्धांगिनी हैं। इस दिन माँ लक्ष्‍मी के साथ भगवान विष्‍णु की पूजा अर्चना करने से उनकी कृपा शीघ्र प्राप्त होती है। शुक्रवार वाली अमावस्या के दिन मध्य रात्रि में दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करने से स्वयं लक्ष्मीनारायण घर में निवास करने लगते हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here