भाजयुमों कार्यकर्ताओं नें काली पट्टिया बांध कर रोष जता

0
428

श्री हजूर साहिब से लौटे श्रदालुओं को कोरोना प्रभावित होने व उनकी वापसी तथा बाद में आईसोलेट करने के लिए पंजाब सरकार द्वारा किए गए प्रबंधों को लेकर भारतीय जनता युवा मोर्चा ने सख्त विरोध जताते कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार व अन्य कांग्रेसी नेता श्रद्धालुओं को बदनाम करने की साजिश के तहत बेतुकी ब्यानबाजी कर रहे है। भाजयुमों ने प्रदेशभर में इस पर कड़़ी प्रतिक्रिया देते कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपनी नालायकी छिपाने के लिए श्रद्धालुओं को निशाना बना कर उनको मानसिक रुप से प्रताडि़त व बदनाम करने में लगी है, जो सहन नही किया सकता। भाजयुमों ने प्रदेश भर में प्रदेशाध्यक्ष राणा भानू प्रताप सिंह की अगुवाई व दिशा निर्देशन में अपने अपने घरों में बैठ कर काली पट्टिया बांध कर रोष जताया।
भाजयुमों के जिलाध्यक्ष अशुतोष तिवाडी ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने असल में श्रदालुओं को लाने से पहले केंद्रीय गृह व सेहत विभाग द्वारा जारी एडवाईडरी को नही माना तथा ए.सी. बसे भेज दी,साथ ही वहां से कुछ श्रमिकों को भी बुला लिया। जिसके चलते श्रद्धालु कोरोना प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि एक तरफ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह का मानना है कि प्रदेश में 87 फीसदी लोग इसकी चपेट में आ सकते है पर इसके बाबजूद पंजाब सरकार के पास ऐसे हालातों से निपटने के लिए .87 फीसदी भी सेहत संबंधी पर्याप्त व संतोषजनक सुविधाएं नही है। सहीं मायनों में तो पंजाब की कांग्रेस सरकार ऐसे प्रबंधों के मामले में बूरी तरह से फेल साबित हुई है। इतना ही नही सरकार के पास कोरोना प्रभावित अथवा बाहर से लाए जाने के बाद संबंधित को आईसोलेट किए जाने का कोई पुख्ता व बढ़ीया प्रबंध तक नही है। जिसकी जानकारी खुद्द श्रदालु वीडियो जारी कर दे चुके है तथा इसका खुलासा खुद्द कांग्रेस के कई विधायक सोशल मीडिया पर भी कर चुके है।
भाजयुमों महामंत्री सन्दीप अग्रवाल व उपाध्यक्ष गगन गोयल ने कहा कि श्री हजूर साहिब से वापस आने वाले श्रद्धालु हमारे भाई बहन है। उन्होंने कहा कि उनके रहने के लिए जिस प्रकार की जगहों का प्रबंध पंजाब सरकार ने किया,जहां साफ सफाई ,बाथरूम जैसी प्राथमिक सहूलते तक मौजूद नही है। जिस के चलते श्रदालु जो पहले बीमारी के प्रभाव के कारण दुखी है तथा ऐसे प्रबंधों के चलते उनकी तकलीफें ओर बढ़ गई है और वो सरकार को कोस रहे है। सही मायनों में लोगो को चाहिए वो श्रद्धालुओं को नही पंजाब सरकार की नाकामियों को कोसे। उससे भी अधिक शर्मनाक बात यह है कि कांग्रेस के एक बड़े नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री दिगविजय सिंह ने हमारे श्रदालु भाईयों की तुलना तबलीगी जमात से कर उनको जख्मों को कुरेद कर नमक डालने का काम किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ऐसे नेताओं की जवान पर लगाम कसनी चाहिए। सेहत मंत्री जी को श्रदालुओं की सेहत की बजाए अपनी सेहत का इतना फिक्र है कि एक बार उनका हाल चाल नही पूछा, उल्टे उनको बदनाम करने के हथकंडे अपना रहे है,जो कि बेहद घटिया बात है आने वाले समय मे लोग इनसे आहत हुई भावनाओ के साथ सवाल जरूर करेंगे इस मौके पर रवि मौर्य, साहिल सेतिया, अमन गोयल, नवदीप गोयल, अभिषेक गर्ग, रवि गर्ग, अमित गर्ग व अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here